Join Our WhatsApp Group!

अब बूम करेगा डिफेंस सेक्टर Mahindra ने उठाया बड़ा क़दम!

भारत की कई दिग्गज कंपनियां डिफेंस सेक्टर में अपना अस्तित्व बढ़ाने की दिशा में लगातार काम कर रही है देखा जाए तो कई बड़े ग्रुप देश को सशक्त बनाने के लिए इस सेक्टर में पहले ही मौजूद है। अब रक्षा क्षेत्र में अपना दबदबा कायम रखने के लिए महिंद्रा ग्रुप ने एक अहम फैसला लिया है। महिंद्रा ने ब्राजील की कंपनी एंबरेयर के साथ एक बड़ा समझौता किया है जिससे आने वाले समय में भारत को बहुत फायदा हो सकता है। क्या है पूरी खबर जानेंगे इस रिपोर्ट में।

भारत की कुछ प्राइवेट कंपनियां लगातार रक्षा के क्षेत्र में भारत को बुलंदियों पर पहुंचाने का काम कर रही है। जब से भारत सरकार की ओर से इन कंपनियों को उन्नत हथियार से लेकर दूसरी चीजों को बनाने की इजाजत दी गई है तब से इन कंपनियों ने बेहद कम समय में उन्नत तकनीकों को विकसित किया है और भारत की जरूरतों को पूरा करने के लिए दिन रात एक कर दिया है। इस कड़ी में भारत की दिग्गज ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा विमान बनाने का फैसला किया है। महिंद्रा ने इस काम के लिए ब्राजील की एंबरेयर के साथ समझौता किया है यह समझौता भारत सरकार के मीडियम ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट प्रोक्योरमेंट प्रोजेक्ट के तहत किया गया है। जानकारी के लिए बता दे इस विमान को बनाने की फैक्टरी भारत में लगी हुई। दोनों के बीच हुई डील के तहत भारत में लगेगी। दोनों के बीच हुई डील के तहत यहां C-390 मिलेनियम विमान बनाया जायेगा। यह एक मल्टीमिशन एयरक्राफ्ट है इसका इस्तेमाल भारतीय वायु सेना तो करेगी ही साथ ही यहां बनने वाले विमान जब बाहर एक्सपोर्ट होंगे तो देश के डिफेंस सेक्टर को बूस्ट मिलेगा C-390 मिलेनियम की पहली उड़ान ब्राजील में 3 फरवरी 2015 को हुई थी 2019 में इसे सबके सामने पेश किया गया तब से अब तक नौ विमान बने हैं। इसका इस्तेमाल फिलहाल ब्राजील पुर्तगाल और हंगरी की वायु सेना कर रही है। इस विमान को तीन लोग मिलकर उड़ाते हैं दो पायलट और एक लोड मास्टर।

Whatsapp Groupयहाँ क्लिक करे

अब इस एयरक्राफ्ट की खासियत से आपको रूबरू करवाते हैं यह मल्टीमिशन C- 390 मिलेनियम मीडियम साइज ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट की लंबाई 115.5 फीट ऊंचाई 38.1 फीट और इसका विंग स्पैन 115 फीट है इस विमान में एक बार में 23000 किलो ग्राम फ्यूल आता है जो इसे पूरे साजो सामान के साथ एक बार में 5020 किमी की रेंज तक उड़ान भरने की ताकत देता है। इसकी अधिकतम गति 988 किमी प्रति घंटा है वैसे ही आमतौर पर 870 किमी प्रति घंटा की स्पीड से उड़ान भरता है यह विमान अधिकतम 36000 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है। यह विमान हमले से ज्यादा बचाव तकनीकों से लेस है ताकि लोगों को सुरक्षित एक स्थान से दूसरी जगह तक पहुंचाया जा सके। खैर भारत की पूरी कोशिश है कि दुनिया में ज्यादा से ज्यादा उपयोग होने वाले उपकरणों का निर्माण भारत में हो सरकार इसके लिए निजी कंपनियों को प्रोत्साहन भी दे रही है है। पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान का एक बड़ा मकसद भारत के लोगों को देश में बने चीजों से लेस करना भी है।

लेकिन दोस्तों आपको बता दे यह सभी जानकारी इंटरनेट के माध्यम से प्राप्त की गई है। हमारा उद्देश्य केवल आपको बाजार की खबरों से अवगत कराना है। किसी भी निवेश की योजना बनाने से पहले एक बार अपने वित्तीय सलाहकार से जरूर सलाह ले।

यह अगली बड़ी खबर भी पढ़े बस यह 4 शेयर ख़रीद लो घर के खर्चे Dividend से हों जाएंगे ?

Whatsapp Groupयहाँ क्लिक करे

यह अगली बड़ी खबर भी पढ़े :

Important Information: आप इस जानकारी को अच्छे से समझे हम किसी भी तरह की कोई Paid Tips या Advise नहीं देते हैं इसके साथ हम किसी भी शेयर और म्युचुअल फंड को खरीदने और बेचनेकी सलाह नहीं देते हैं इंटरनेट पर जो बड़े पब्लिकेशंस और अन्य कंटेंट से जानकारी हमें प्रदान होती है हम उसे अपनी भाषा में आप तक अच्छे से पहुंचने का प्रयास करते हैं इस बात का ध्यान भी रखें हम किसी प्रकार की भ्रमिक सूचना भी प्रदान नहीं करते हैं इस बात का ध्यान जरूर रखें व्हाट्सएप ग्रुप टेलीग्राम ग्रुप यूट्यूब पर हम किसी भी निवेश की सलाह को प्रमोट नहीं करते हैं हमारा उद्देश्य आपको अच्छी नॉलेज और शेयर और म्युचुअल फंड के बारे में फंडामेंटल की जानकारी देना होता है कृपया किसी भी शेयर और म्युचुअल फंड के बारे में दी गई जानकारी को निवेश की योजना बिल्कुल ना समझे

Disclaimer :- CRYPTO DEKHO का विजन भारत में वित्तीय साक्षरता को बढ़ावा देना है। हम जो सामग्री पोस्ट करते हैं वह विशुद्ध रूप से शिक्षा और मनोरंजन के उद्देश्य से है। हम सेबी पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। इसलिए हम कोई निवेश या वित्तीय सलाहकार सेवाएं प्रदान नहीं करते हैं। आप अपने पैसे और अपने फैसलों के लिए पूरी तरह जिम्मेदार होंगे। कृपया अपने वित्तीय निवेश के लिए किसी सेबी पंजीकृत वित्तीय सलाहकार से परामर्श ले !

1/5 - (1 vote)

Leave a Comment